18/01/2019

iOS जेलब्रेक(Iphone Jailbreak) क्या है, कैसे करते हैं?

आज कि इस पोस्ट में आपको जेलब्रेक के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं. आईफोन ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करने वाले लोग भी नई नई ट्रिक्स खोजा करते हैं. कई सारे डेवलपर्स होता है ऐसे ऐसे प्रोग्राम बना दे रहे हैं जो एप्पल का भट्ठा बैठाने को तैयार है. ऐसे ही कुछ नए प्रोग्राम आए हैं जिनसे जेलब्रेक किया जा सकता है और एप्पल के कई सारे पैड फीचर और एडवांस फीचर बिल्कुल फ्री में इस्तेमाल किए जा सकते हैं. चलिए आज आप को विस्तार से जानकारी देते हैं.

iOS Iphone Jailbreak क्या है

जेलब्रेक क्या होता है?

जेलब्रेक शब्द आईफोन के बारे में अधिक जानकारी रखने वाले है किसके द्वारा बनाया गया है. जेलब्रेक आपके आईफोन में डिफॉल्ट तकनीकी को तोड़ कर के अपने कुछ एडवांस फीचर्स को इंस्टॉल करने को कहते हैं. यह बिल्कुल एंड्राइड की तरह समझा जा सकता है. जिस प्रकार आप अपने एंड्रॉयड फोन को रूट करते हैं बिल्कुल उसी तरह है एप्पल आईफोन में JailBreak होता है.

एंड्राइड फोन में रूट करने के बाद आप अपने फोन गूगल एंड्राइड के द्वारा लगाई गई पाबंदीयों को तोड़ देते हैं ठीक उसी तरह आईफोन का इस्तेमाल करने वाले लोग जेलब्रेक करके एप्पल आईफोन के द्वारा लगाई गई पाबंदी हटा सकते हैं और सारे ऐसे काम कर सकते हैं जो नॉर्मल आईफोन में नहीं किए जा सकते थे.

जेलब्रेक के फायदे और नुकसान क्या है?

कोई भी चीज यदि आपको फायदा देती है तो नुकसान भी देती है. अगर जेलब्रेक करना सही होता तो एप्पल आपको पहले से ही आपके आईफोन में जेलब्रेक करके देता. इसे आप ही एक बात तो समझ सकते हैं कि इसका फायदा के साथ-साथ नुकसान भी होगा. आइए आईफोन को जेलब्रेक करने के फायदे और नुकसान पर एक नजर डालते हैं.

Jailbreak के  फायदे

  • जेलब्रेक करके अपने मोबाइल फोन को पूरी तरह से एप्पल आईफोन की तरफ से लगाई गई पाबंदी सीमाओं से आजाद कर लेते हैं. 
  • आप एप्पल एप स्टोर से प्रीमियम एप्लीकेशन को मुफ्त में डाउनलोड कर लेते हैं.
  • आईफोन की थीम बदल सकते हैं और एडिट भी कर सकते हैं इसमें आपको अनलिमिटेड थीम मिलती है.
  •  एप्लीकेशंस को tweaks कर सकते हैं.
  • Cydia की मदद से इसमें आप बहुत सारे काम कर सकते हैं जो आप पहले नहीं कर सकते थे.

Jailbreak के नुकसान

  • जेलब्रेक करने से आपके मोबाइल की वारंटी खत्म हो जाती है.
  • फोन हैंग भी होने लग सकता है.
  • आपके आईफोन को थर्ड पार्टी एप्स से खतरा हो सकता है.
किसी भी प्रकार के खतरे से बचाने के लिए हम आपको यहां पर कुछ अलग जानकारी देने वाले हैं. ताकि आप जेलब्रेक भी कर पाया और आपको कोई खतरा भी ना हो. इसे पहले जान लेते हैं जेलब्रेक कितने प्रकार का होता है.

जेलब्रेक को आप तीन प्रकार में बांट सकते हैं
  • अस्थाई जेलब्रेक : जैसे ही आप अपने फोन को  ऑफ करके दोबारा ऑन करते हैं जेल ब्रेक खत्म हो जाता है सब कुछ पहले जैसा हो जाता है.
  • सेमी जेलब्रेक:  रीस्टार्ट करने के बाद जेलब्रेक खत्म हो जाता है, परंतु फिर से आसानी से शुरू कर सकते हो.
  • परमानेंट: आईफोन हमेशा के लिए जेलब्रेक हो जाता है. जिसको दोबारा पहले जैसा नहीं बनाया जा सकता.

अस्थाई जेलब्रेक: इसमें से यदि आप जेलब्रेक करना चाहते हैं तो अस्थाई और Semi  जेलब्रेक सबसे अच्छे रहते हैं. यदि आप जेलब्रेक क्या होता है केवल यह देखना चाहते हैं तो आपको अस्थाई जेलब्रेक करना चाहिए. इससे यदि आप जेलब्रेक का इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो फोन को स्विच ऑफ करके ऑन करते ही सब कुछ पहले जैसे ठीक हो जाएगा.

Semi जेलब्रेक : में यदि आप फोन को स्विच ऑफ करके ऑन करते हैं तो आपका फोन बिना जेलब्रेक का हो जाता है. परंतु दिए गए एक ऑप्शन ELECTRA पर क्लिक करके आप आपके फोन में फिर से जेलब्रेक शुरू कर सकते हो. इससे आपके फोन में जेलब्रेक तब तक ही रहेगा जब तक आप की मर्जी है.

परमानेंट जेलब्रेक : खतरनाक रहता है क्योंकि इससे आपके फोन कि मुख्य सिक्योरिटी पूरी तरह से समाप्त हो जाती है. फिर अपने फोन को सिक्योर करने के लिए आपको किसी ने एप को इंस्टॉल करने से पहले उसके सुरक्षित होने या असुरक्षित होने की निगरानी रखनी पड़ती है. इसलिए हम आपको सलाह देंगे की परमानेंट जेलब्रेक ना करें.
आपने जेलब्रेक के बारे में जानकारी प्राप्त कर ली यदि अब आप अपने आईफोन में जेलब्रेक करना चाहते हैं तो जेलब्रेक करने के लिए यह लेख पढ़ें.